खराब जीन (Genetic Disease) के असर को खत्म या अत्यधिक कम किया जा सकता है

लंबी बीमारियों (Chronic Diseases) के बहुत से कारणों में एक कारण जीन की संरचना (Genetic Disease) भी होता है । अत्यधिक लंबी बीमारियों में यह एक बहुत बड़ा कारण है । इन्हे Genetic / Hereditary / Familial या माँ – बाप से विरासत में मिली बीमारियाँ भी कहते हैं । क्योंकि इस कारण को ठीक नही किया जा सकता है । इसलिये हम बीमारियों को लाइलाज मानकर इनका इलाज लक्षणों के आधार पर करते रहते हैं । लेकिन यह सही नहीं है । जीन तो बीज की तरह होती हैं । इन जीन रूपी बीजों को पनपने और बीमारी पैदा करने लिये अगर उनके अनुकूल वातावरण नहीं मिलेगा तो वें पनपेंगी ही नहीं । वे मुरझा जायेगी (Gene Suppression) हमें केवल यह कार्य करना होगा कि उन्हें उनके अनुकूल वातावरण न मिले ।

उदाहरण के लिए एक खराब जीन हम लोगों में बहुतायत (> 40%) में मिलता है । इसे MTHFR (Methyl Tetrahydrofolate Reductase) जीन कहते हैं । यह जीन अाधुनिक बीमारियों में अधिकतर बीमारियों के लिये अत्यधिक जिम्मेवार है । लकिन हम इस जीन के प्रभाव को अत्यधिक कम या खत्म कर सकते हैं । यह जीन डायबीटिज ,हाई ब्लड प्रेशर, बहुत से कैंसर , थायराइड की बीमारी , भूलने की बीमारी , जोड़ो की बीमारी एवं अन्य बहुत सी बीमारियों के लिये जिम्मेदार है ।

इसे जब उचित वातावरण मिलता है तो यें बीमारियाँ होने लगती हैं । जिन व्यक्तियों में यह खराब जीन नहीं होती । वें खराब वातावरण होते हुए भी इन बीमारियों से काफी लंबे समय तक बचे रहते है । यही कारण है कि कुछ लोग खराब जीवन शैली के होते हुए भी बीमारियों से बच जाते हैं और कुछ काफी अच्छी जीवन शैली के बावजूद इन बीमारियों की पकड़ में आ जाते हैं ।

हम इन खराब जीन से होने वाले प्रभावों को बहुत से कारणों को एक साथ खत्म करके बहुत समय तक कम रखने में सफल हो सकते हैं । मुख्य बात है कि वह सब कारण कौन से हैं  जिन्हे खत्म करके हम इन बीमारियों से बचे ।